खेल-मनोरंजन

पिच ने हमें काफी हैरान किया: पोंटिंग

नयी दिल्ली. दिल्ली कैपिटल्स के मुख्य कोच रिकी पोंटिंग ने इंडियन प्रीमियर लीग में गुरुवार को यहां सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ पांच विकेट की हार के बार कहा कि उन्हें इस तरह की धीमी पिच की उम्मीद नहीं थी और फिरोजशाह कोटला की इस पिच ने उन्हें काफी हैरान किया.

दिल्ली की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए आफ स्पिनर मोहम्मद नबी (21 रन पर दो विकेट), भुवनेश्वर कुमार (27 रन पर दो विकेट) और सिद्धार्थ कौल (35 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने आठ विकेट पर 129 रन ही बना सकी. इसके जवाब में हैदराबाद की टीम ने नौ गेंद शेष रहते पांच विकेट पर 131 रन बनाकर जीत दर्ज की.

पोंंिटग ने मैच के बाद स्वीकार किया कि विरोधी टीम के गेंदबाजों ने इस पिच पर काफी बेहतर गेंदबाजी की. वह हालांकि इस तरह की पिच को देखकर हैरान भी थे. पोंंिटग ने मैच के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि इस पिच पर उन्होंने काफी समझदारी से गेंदबाजी की. यह कहना उचित होगा कि इस विकेट ने हमें काफी हैरान किया.

मैच से पहले मैदानर्किमयों से बात की थी तो उन्होंने उम्मीद जताई थी कि यह अब तक हुए तीन मैचों में सर्वश्रेष्ठ पिच होगी लेकिन गेंद नीची रह रही थी और स्पिन हो रही थी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इन हालात के लिए उनके (सनराइजर्स) पास काफी कुशल गेंदबाज हैं. मोहम्मद नबी ने पावर प्ले में उनके लिए अच्छा प्रदर्शन किया. हमें पता है कि इस विकेट पर अच्छी शुरुआत की जरूरत है लेकिन हम आज ऐसा नहीं कर पाए.

इससे भी बदतर हुआ कि हमने काफी कैच छोड़ दिए. अगर हम कैच पकड़ लेते तो शायद चीजें अलग होती.’’ पोंंिटग ने कहा कि उन्हें अपने खेल के कुछ विभागों में सुधार करना होगा और अपने घरेलू मैदान पर विरोधी टीमों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन करना होगा.

आस्ट्रेलिया के इस पूर्व दिग्गज बल्लेबाज ने कहा, ‘‘हमें कुछ चीजों पर काम करने की जरूरत है. यह हमारा घरेलू मैदान है और हमें यहां अन्य टीमों से बेहतर खेलना होगा. लेकिन अब तक यहां तीन में से दो मैचों में विरोधी टीम ने हालात से हमारी तुलना में बेहतर सामंजस्य बैठाया है. निश्चित तौर पर हमें इसमें सुधार करना होगा.’’

दिल्ली के कुछ खिलाड़ी काफी खराब शाट खेलकर पवेलियन लौटे जिस पर पोंंिटग ने कहा, ‘‘इसमें कोई शक नहीं कि शाट चयन गलत था. हमारे कुछ सीनियर खिलाड़ी भी क्रीज पर लंबे समय तक नहीं टिक पाए. 130 रन के स्कोर का बचाव करना आसान नहीं है. हम धीमी पिच पर भी पहले बल्लेबाजी करते हुए 160-165 रन की उम्मीद करते हैं. ’’

पोंंिटग से जब यह पूछा गया कि क्या लगातार दो मैच गंवाने के बाद क्या टीम मालिकों ने उन्हें प्रदर्शन में सुधार की हिदायत दी है तो उन्होंने कहा, ‘‘इस प्रदर्शन के बाद अब तक मालिकों से बात नहीं की है. हमारा प्रबंधन नया है, नए कोच आए हैं इसलिए सब कुछ सकारात्मक है. पहले चार मैच के बाद सकारात्मक रहने की जरूरत है. ’’

पोंंिटग ने हालांकि गेंदबाजों का बचाव करते हुए कहा कि बल्लेबाजों को इन हालात में बेहतर प्रदर्शन करना होगा. उन्होंने कहा, ‘‘मैं गेंदबाजों के प्रदर्शन को दोष नहीं दे सकता क्योंकि बल्लेबाजों ने पर्याप्त रन नहीं बनाए. ईमानदारी से कहूं तो हमने मैच को इतना लंबा खींचकर अच्छा प्रदर्शन किया. पावरप्ले के बाद मैच खत्म होने तक हमने अच्छी गेंदबाजी की. इस मैच में यह सकारात्मक पक्ष रहा.’’

सनराइजर्स के सलामी बल्लेबाजी जानी बेयरस्टा ने 48 रन ही तूफानी पारी खेली और क्रीज से बाहर निकलकर खेलने से भी नहीं हिचके जिस पर पोंंिटग ने कहा कि इंग्लैंड का यह बल्लेबाज जिस तरह की फार्म में हैं उसके कारण उसे कोई शाट खेलने का डर नहीं है.
पोंंिटग ने हालांकि यह मानने से इनकार कर दिया कि उनके बल्लेबाज खराब फार्म में हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमारे शीर्ष क्रम के सभी बल्लेबाजी काफी अच्छी फार्म में हैं. हमने जो मैच जीते उन्हें देखिए. ऋषभ मुंबई के खिलाफ मैन आफ द मैच रहा. पृथ्वी साव यहां कोलकाता के खिलाफ मैन आफ द मैच रहा. इस प्रारूप में जीत का फार्मूला सामान्य है. अगर आपके शीर्ष तीन या चार में से कोई बल्लेबाज 70 या 80 रन बनाता है तो आफ काफी मैच नहीं गंवाओगे.’’

पोंिटग ने कहा, ‘‘ हमने जो दो मैच जीते उसमें पृथ्वी ने 99 रन की पारी खेली जबकि ऋषभ ने मुंबई के खिलाफ 78 रन बनाए. हमें इसी की जरूरत है. इस प्रतियोगिता में व्यक्तिगत प्रदर्शन में निरंतरता जरूरी नहीं है. यह अलग हटकर प्रदर्शन पर निर्भर करता है. हमने पिछले साल दिल्ली डेयरडेविल्स में देखा कि हमारे पास दूसरा सर्वाधिक रन बनाने वाला बल्लेबाज और दूसरा या तीसरा सर्वाधिक विकेट चटकाने वाला गेंदबाज था लेकिन हम अंक तालिका में अंतिम स्थान पर रहे. इसलिए यह निरंतरता पर निर्भर नहीं करता बल्कि आपको मैच पर प्रभाव छोड़ना होता है.’’

पोंंिटग ने कहा कि वह इस तरह की पिच पर कभी सनराइजर्स का सामना करना पसंद नहीं करेंगे और अगर आगे भी इसी तरह की पिच रही तो उन्हें टीम संयोजन पर पुर्निवचार करना होगा. उन्होंने कहा, ‘‘पिच दोनों टीमों के लिए समान थी. लेकिन अगर आप मुझसे पूछेगो कि क्या मैं इस तरह के विकेट पर सनराइजर्स से खेलना चाहूंगा तो मैं ऐसा कभी नहीं करूंगा.

यह पूरी तरह से उनके अनुकूल था. उनके पास शानदार स्पिनर हैं और उनके सभी गेंदबाज धीमी गेंद फेंकते हैं और इस पिच पर अगर आप धीमी गेंद फेंकते हैं तो फिर रन आपके खिलाफ रन बनाना काफी मुश्किल है. लेकिन अगर पिच इसी तरह की रहती है तो हमें अपनी टीम पर पुर्निवचार करना होगा.’’

पोंिटग ने साथ ही कहा कि उन्हें किसी भी हालात में 129 रन का स्कोर स्वीकार्य नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘कोच के रूप में मैं इस तरह के प्रदर्शन को स्वीकार नहीं करता. 129 रन कहीं से भी स्वीकार्य स्कोर नहीं है. अगले मैच में हमारे बल्लेबाजों को बेहतर करना होगा.’’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close