छत्तीसगढ़

सुप्रसिद्ध साहित्यकार अमीचंद राहगीर को पूर्व विजय अग्रवाल ने दी विनम्र श्रद्धांजलि

रायगढ़ – स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व पूर्व विधायक रामकुमार अग्रवाल के सुपुत्र जिले के सुप्रसिद्ध साहित्यकार अमीचंद अग्रवाल राहगीर का विगत दिवस 76 वर्ष की उम्र में दुखद निधन हो गया। ब्रम्हलीन अमीचंद राहगीर को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए पूर्व विधायक विजय अग्रवाल ने अपनी भावनाओं को अभिव्यक्त करते हुए कहा कि साहित्यकार अमीचंद राहगीर के अनायास चले जाने से समाज की अपूर्णीय क्षति हुई है जिसकी कमी कभी पूरी नहीं होगी साथ ही साहित्य जगत का क्षेत्र भी सूना हो गया। काव्य साहित्य जगत व समाज के वे वास्तव में राहगीर थे और उनका यह तख्लुलस (उपनाम) उनके यथार्थ जीवन में और समाज के हर वर्ग के लोगों के लिए सच भी साबित हुआ। ब्रम्हलीन अमीचंद जी अंतिम सांस तक राहगीर बनकर अपने साहित्य के दिव्य विचारों व लेख से समाज के सभी वर्ग के लोगों को राह दिखाते रहे जिससे लोगों को अच्छी जिंदगी जीने का नव पथ मिला। जिसका सभी सदैव आभारी रहेंगे ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे यही हमारी अरज है। ब्रम्हलीन समाज के मार्गदर्शक सुप्रसिद्ध साहित्यकार अमीचंद राहगीर को पुनः कोटि-कोटि सादर प्रणाम।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close