अपराधछत्तीसगढ़देश

विराट सर्राफ़ अपहरण की घटना में किस हद की हिस्सेदारी.. जवाब तलाश रही पुलिस

बिलासपुर. शहर को हिला देने वाले विराट सर्राफ़ अपहरण मामले में पुलिस के राडार पर मौजुद एक महिला के मसले ने मीडिया रिपोर्ट मसालेदार कर दी है। इस आशय की ख़बरें आ रही हैं कि, महिला सराफ परिवार नज़दीकी रिश्तेदार थी और पूरा घटनाक्रम उसी ने कराया है।
इस मामले पर मामले की तहक़ीक़ात से जूड़े आला अधिकारियों ने ऐसी रिपोर्ट को सिरे से ख़ारिज कर दिया है। आला अधिकारियों के मुताबिक़ इस मामले का मुख्य आरोपी और षड़यंत्रकारी अनिल सिंह राजपूत ही है। पीड़ित परिवार के दूर की रिश्तेदार नीता सर्राफ़ और अनिल सिंह के बीच गहरे संबंध थे। अनिल सिंह को नीता सराफ ने ज़मीन बेची थी, जिसका पैसा उसे मिला नही था, अनिल सिंह स्क्रैप के काम में हाथ डालना चाहता था और उसके लिए भी उसे पैसा चाहिए था।

जाँच टीम के पास इस बात के प्रमाण हैं कि नीता और अनिल सिंह के बीच बात होती थी, जो पूछताछ हो रही है वह यह सुनिश्चित करने के लिए हो रही है कि, अगर अपराध में नीता की सहभागिता थी तो किस रुप में थी। पुलिस टीम यह मान रही है कि, प्रमुख आरोपी अनिल सिंह ने नीता का उपयोग किया और जानकारियाँ लीं पर कितनी और किस तरह इसके साथ साथ यह भी कि क्या नीता जानती थी कि अनिल सिंह ने ही अपहरण किया है ?

एसपी अभिषेक मीणा ने कहा “हम पूछताछ कर रहे हैं, नीता को पैसे लेने थे, और वो अनिल से बात करती थी..अनिल विराट सराफ अपहरण केस का प्रमुख षड़यंत्रकारी और मुख्य आरोपी है.. उससे संपर्क में थी यह महिला.. हम इसी का ब्यौरा समझ रहे हैं.. देर शाम तक स्थिति स्पष्ट हो जाएगी”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close