छत्तीसगढ़

नयी पीढ़ी की आवाज सम्मान 2019 से सम्मानित हुए पुरोधा

प्रदेश के विभिन्न क्षेत्र से सैकड़ों कवियों और साहित्यकारों का हुआ सम्मान साथ ही चार पुस्तकों का भी हुआ विमोचन

सम्मान मिलने से कार्य करने की बढ़ती है क्षमता – प्रकाश नायक
समाज के प्रति जवाबदारी का एहसास कराता है सम्मान – रामदास

रायगढ़ – नयी पीढ़ी की आवाज द्वारा 26 मई 2019 को सम्मान समारोह का आयोजन रायगढ़ के होटल अंश इंटरनेशनल में किया गया था। जिसमें समाज के आदर्श, संघर्ष, सफलता, विकास – हर आयाम से नेतृत्वकारी पुरोधाओं को एक मंच पर एक साथ लाकर सम्मानित किया गया। इसमें खेल, नृत्य, शिक्षा, गायन, रंगमंच, साहित्य, स्वास्थ्य, सफल उद्यमी, उद्यान विस्तार, पत्रकारिता, उभरती प्रतिभा, शासकीय सेवा सम्मान, आजीविका प्रबंधन, सामाजिक कल्याण, विशिष्ट सेवा सम्मान, महिला सशक्तिकरण एवं आजीवन सेवा सम्मान आदि क्षेत्रों से पूर्व चयनित पुरोधाओं के साथ-साथ प्रदेश के नामचीन साहित्यकार व कवियों का सम्मान किया गया। साथ ही रायगढ़ के अक्षय मिश्रा, भानु प्रताप मिश्र और धमतरी की डाॅ. शैल चन्द्रा द्वारा लिखी गयी क्रमशः खोया हुआ बचपन, नया मुद्रा राक्षस, वसुन्धरा का कल्पवृक्ष और पापा बिजी हैं आदि चार पुस्तकों का विमोचन किया गया।

उक्त कार्यक्रम में खेल से नीरावती मिंज लैलूंगा, को नृत्य में प्रीति वैष्णव, शिक्षा में शशि कुमार बैरागी बरमकेला, शास्त्रीय गायन में सुनील गुप्ता महापल्ली, सुगम संगीत में गजानंद प्रसाद यादव, रंगमंच में तरुण बघेल, छत्तीसगढ़ी साहित्य में वसंती वर्मा, हिंदी साहित्य में श्याम नारायण श्रीवास्तव, स्वास्थ्य में डॉक्टर के. एन. पटेल, सफल उद्यमी में संजय अग्रवाल एन.आर. इस्पात, उद्यान विस्तार में लक्ष्मण कुमार पटेल बरमकेला, पत्रकारिता में गोपा सान्याल, ग्रामीण पत्रकारिता में मोहन नायक, उभरती प्रतिभा में रेयांश राहुल चित्रकला, डिकेश साव खेल, प्रगति सतपथी शिक्षा, विवेक देवांगन बांसुरी वादन, ईशा यादव गायन, स्पंदन पांडे शिक्षा, ऋषि सिंह खेल, शासकीय सेवा सम्मान में एम एल जोगी, सामाजिक कल्याण में हीरा देवी निराला सारंगढ़, बालमुकुंद शर्मा रायगढ़, विशिष्ट सेवा सम्मान में शिव कुमार पांडे, अंजनी कुमार अंकुर, प्रताप सिंह खोडियार, कस्तूरी दिनेश, आजीविका प्रबंधन में रमाकांत पाढ़ी, आशा मेहर, महिला सशक्तिकरण में कुसुम साहू, आशा त्रिपाठी, आजीवन सेवा सम्मान में डॉ प्रभात त्रिपाठी को भव्य समारोह में ’नयी पीढ़ी की आवाज’ द्वारा सम्मानित किया गया।

उसके पश्चात प्रोफेसर के. के. तिवारी, केवल कृष्ण पाठक, डाॅ. विनोद कुमार वर्मा, सुभाष त्रिपाठी, डाॅ. शैल चन्द्रा, प्रोफेसर आर. एस. तोमर, डाॅ. राजेन्द्र अग्रवाल (राजू), वेद मणि सिंह ठाकुर, वासंती वैष्णव, शंभुलाल शर्मा वसंत, मनहरन सिंह ठाकुर, रामचन्द्र शर्मा, राकेश यादव, रेखा महमिया आदि निर्णायक मंडल के सभी सदस्यों का सम्मान किया गया। तत्पश्चात प्रदेश के सैकड़ों नामचीन साहित्यकारों व कवियों का सम्मान साहित्य सेवा के लिए किया गया। जिसमें मुख्य रूप से जांजगीर के विजय राठौर, अमिता रवि दूबे, बिहारी, लाल बेचैन, अमल श्रीवास्तव, बालक दास निर्मोही, जयेन्द्र कौशिक, तेजराम नायक, साखी गोपाल पंडा, मनमोहन सिंह ठाकुर, रूकमणी सिंह ठाकुर सहित दर्जनों कवियों व साहित्यकारों का सम्मान किया गया।

साथ ही देवकी रामधारी फांउन्डेशन के दीपक डोरा को नेत्र दान के क्षेत्र में कार्य के लिए सम्मान किया गया तथा कार्यक्रम एवं नयी पीढ़ी की आवाज पत्रिका में सहयोग देने हेतु सहभागिता सम्मान से रूषेन कुमार, प्रेम नारायण मौर्य, आनंद सिंघनपुरी, चन्द्रसेन मिश्रा, सनत चैहान, रामरतन मिश्रा, युवराज सिंह आजाद, ऋषि वर्मा को कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक व कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अखिल भारतीय अग्रवाल संगठन के प्रांतीय अध्यक्ष व राष्ट्रीय मंत्री तथा रामदास द्रौपदी फाॅउन्डेशन के संरक्षक रामदास अग्रवाल तथा कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर के. के. तिवारी, डाॅ. विनोद कुमार वर्मा, राजेन्द्र अग्रवाल (राजू), सुभाष त्रिपाठी, वेद मणि सिंह ठाकुर, प्रोफेसर आर.एस. तोमर और रेखा महमिया आदि द्वारा सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि समाज के ऐसे उत्कृष्ट लोगों का सम्मानित करते हुए मुझे बहुत खुशी हुई और मैं नयी पीढ़ी की आवाज के इस प्रकार के उत्कृष्ट कार्य करने के लिए बधाई देते हुए कहना चाहूंगा कि समाज के लिए कार्य करने वाले ये पुरोधा अपने कार्यों से शिलालेख लिखने वाले लोग हैं। मैं कामना करना करता हूं कि इसी तरह आप सभी अपने जीवन पथ पर राष्ट्र निर्माण के लिए रचनात्मक दिशा में कार्य करते रहें। जिससे की नयी पीढ़ी की आवाज और हमारी मजबूत राष्ट्र की कल्पना का बल मिलता रहे।

वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे रामदास अग्रवाल ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि समाज के आदर्श, संघर्ष व सफलता के पुरोधाओं को सम्मान दिया जाना नयी पीढ़ी की आवाज़ की इस पहल का जितनी भी प्रसन्नसा की जाये वह बहुत कम होगा। इस मंच पर साहित्य और काव्य के बड़े-बड़े हस्ताक्षर उपस्थित हुए हैं और सबसे बड़ी बात यह है कि समाज के हर क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगों को एक मंच पर लाकर सम्मानित करने का कार्य ही अपने आप में श्रेष्ठतम है। यहां उपस्थित हर पुरोधा समाज के लिए कार्य करने वाले हैं। इन्हीं के कार्य से एक सशक्त राष्ट्र की कल्पना को बल मिलता है। मैं सभी को अशेष शुभकामना देते हुए कामना करता हूं कि आप अपने जीवन पथ पर राष्ट्र निर्माण के लिए रचनात्मक दिशा में इसी तरह कार्य करते रहें। जिससे कि नयी पीढ़ी की आवाज और हम सब की मजबूत राष्ट्र की कल्पना को बल मिले।

वहीं चार अक्षय मिश्रा की पुस्तक खोया हुआ बचपन, नया मुद्रा राक्षस, वहीं भानु प्रताप मिश्र की पुस्तक वसुन्धरा का कल्पवृक्ष व डाॅ. शैल चन्द्रा की पुस्तक पापा बिजी हैं का विमोचन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक व कार्यक्रम अध्यक्ष रामदास अग्रवाल तथा सभी विशिष्ट अतिथियों द्वारा किया गया। इस अवसर पर प्रदेश के सैकड़ो कवि व साहित्यकार के साथ-साथ शहर के सैकड़ों गणमान्य जन उपस्थित रहे। कार्यक्रम का सफल संचालन कवि प्रकाश शर्मा द्वारा किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close